Select Language

Thursday, July 30, 2020

Rafale vs J20 | कौन है युद्ध का विजेता |

New Delhi: कई सालों से Dassault Rafale को भारतीय वायुसेना में शामिल करने की प्रक्रिया को 29 जुलाई को पूरा कर लिया गया।

Dassault Rafale

36 राफेल फाइटर जेट की पहली खेप के 5 जेट अंबाला एयर फोर्स स्टेशन पर लैंड हुये। रक्षा विशेषयज्ञों का मानना है कि इन game changer जेट से भारतीय वायुसेना की ताकत दो गुनी हो गई है। हाल ही में चीन अपनी षड़यंत्रकारी चालों से भारत के लिये परेशानी खड़ी कर रहा था लेकिन अब वह ऐसा नहीं कर सकेगा।
राफेल के भारत पहुंचते ही चीन को अपनी वायु शक्ति को आंकने के लिये मजबूर कर दिया है।
दरअसल चीन के पास 5th जनरेशन का फाइटर प्लेन  Chengdu J-20  है। जो कि रडार को चकमा देने वाली तकनीक से लैस है। दुनिया में तीन ही 5th जनरेशन के फाइटर जेट हैं। F-22 रैपटर (अमेरिका), F-35 (अमेरिका) और Chengdu J-20 (चीन)। 

Rafale vs J20


भारतीय वायुसेना में शामिल Dassault Rafale जेट 4.5th जनरेशन का है लेकिन इसमें वह सब कुछ है जो कि एक 5th जनरेशन के जेट में होता है। राफेल फाइटर जेट को game changer भी कहा जाता है क्योंकि यह फाइटर जेट युद्ध में कई तरह की भूमिका एक साथ निभा सकता है। मतलब यह है कि ये फाइटर जेट एक बार की उड़ान में कई तरह के अटैक एक साथ करके दुश्मनों में दहशत फैला देता है। और सबसे खास बात यह है कि राफेल 5th जनरेशन के फाइटर जेट को आसानी से टारगेट कर सकता है। पूर्व भारतीय वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने एक इंटरव्यू में कहा कि चीन की ताकत को कम नहीं आंका जा सकता लेकिन यदि युद्ध की स्थिति आती है तो चीन का फाइटर जेट J-20 कहीं भी rafale के सामने नहीं टिक सकता।

एक नजर राफेल और J-20 पर

Dassault Rafale                                   Chengdu J-20
ट्विन इंजन                     इंजन             ट्विन इंजन
सिंगल सीट                      सीट               सिंगल सीट
मल्टी रोल फाइटर जेट    मुख्य काम       स्टील्थ जेट
24,500 किलोग्राम          टेकऑफ वेट     34,000 से 37,000 किलोग्राम
3700 किलोमीटर            रेंज                  3400 किलोमीटर (दूरी बढाई जा सकती है)
2130 किलोमीटर/घंटा     स्पीड               2100 किलोमीटर/ घंटा
4 मिसाइल                     मिसाइल लोड   4 मिसाइल

Wednesday, July 29, 2020

is easy to earn money online | क्या ऑनलाइन पैसा कमाना आसान है |

New Delhi: अपनी earnings को कौन नहीं बढ़ाना चाहता। हर इटरनेट यूज़र की इच्छा होती है कि वह ऑनलाइन पैसा कमाये। आजकल ऑनलाइन पैसा कमाने के कई सारे इटरनेट प्लेटफार्म मौजूद हैं। सोशल मीडिया से लेकर कई तरह के सर्वे तक। कभी टिकटॉक ने भी कई लोगों को स्टार बनाकर उनकी किस्मत को चमका दिया था लेकिन अब भारत सरकार टिकटॉक के साथ कई चीनी एपलीकेशन्स को बैन कर चुकी है।

is easy to earn money online

लोगों में ऑनलाइन पैसा कमाने की इच्छा इस कदर हावी है कि वे इसके लिये अपना कीमती समय बरबाद कर देते हैं।
ऐसा नहीं है कि ऑनलाइन पैसा कमाया नहीं जा सकता। इस माध्यम से अच्छा खासा पैसा लोग कमा भी रहे हैं लेकिन उन लोगों की संख्या कम है। इश तरह से समझिये कि एक छोटी से प्राइवेट नौकरी का मिलना जितना आसान है उतना ही आसान ऑनलाइन पैसा कमाना है। लेकिन एक बात पर और ध्यान दीजिये। 
और वह बात यह है कि छोटी प्राइवेट नौकरी ज्यादा काम में छोड़े पैसे देगी ठीक ऐसा ही यहां है। आप इटरनेटर पर बहुत मेहनत करोगे और कमाई ना के बराबर होगी।
ऑनलाइन पैसा अच्छा कमाने के लिये थोड़ा वक्त जरुर लगेगा। यह मानकर आप youtube, facebook page, website, online game earning, पर अपना समय जरुर लगा सकते हैं। 

Sunday, July 26, 2020

TATA Harrier (BS6) the most attractive SUV. TATA है TATA.

New Delhi: यूं तो देश में बहुत सी कार निर्माता कंपनी हैं। उन सब के पास एक से बढ़कर एक कार हैं जो कि ग्राहकों को खूब पसंद आती हैं। छोटे बजट से लेकर बड़े बजट तक की कारों को खरीदने के लिये ग्राहकों की अच्छी खासी संख्या कार शो रुम तक पहुंचती रहती है। लेकिन पिछले कुछ सालों में एक कार निर्माता कंपनी ने बहुत ही क्रांतीकारी बदलाब के साथ नई कारों का निर्माण किया है जो कि ग्राहकों के लिये आकर्षण का केन्द्र बनती जा रही है।

TATA Harrier the most attractive SUV

यह वाहन निर्माता कंपनी है TATA. पिछले कुछ सालों में TATA ने अपने नये वाहनों के निर्माण पर काफी मेहनत की जिसका सकारात्मक नतीजा मिला है।

TATA Harrier (BS6)

TATA के तरकश में एक शानदार SUV है जो कि अपने सेग्मेंट में की एसयूवी से काफी आकर्षक है। 23 जनवरी 2019 को लॉच हई इस एसयूवी ने लोगों में काफी क्रेज बनाया और साल 2020 में नये बदलाब के साथ यह गाड़ी और भी शानदार हो गई।
जो लोग Range Rover खरीदने का सपना पूरा नहींं कर पाते उनके लिये यह गाड़ी उस सपने के पूरा होने के जैसा ही है। TATA Harrier इसी गाड़ी के प्लेटफार्म पर विकसित की गई है।

आइये जानते है TATA Harrier (BS6) के Features के बारे में।

यह एसयूवी 16 varients में उप्लब्ध है। दिल्ली एक्स शो रुम में इसकी कीमत 13 लाख 69 हजार रुपये से लेकर 20 लाख 25 हजार तक है। यह एसयूवी manual और automatic दोनों transmission में आती है। TATA Harrier डीजल इंजन में आती हैं। यहएसयूबी  Manual में 17 किलोमीटर/लीटर और Automatic में 14 किलोमीटर/लीटर का माइलेज देती है।

Tata Harrier
ARAI Mileage-                          17.0 kmpl in manual and 14kmpl in automatic
Fuel Type-                                   Diesel Engine 
Displacement-                             1956(cc) 
Power-                                         (bhp@rpm)167.67bhp@3750rpmMax 
Torque-                                        (nm@rpm)350Nm@1750-2500rpm
SeatingCapacity-                          5
TransmissionType-                      Automatic/ Manual
Boot Space (Litres)-                   425
Fuel Tank Capacity-                   50 
Body TypeSUV

Basic Features of Tata Harrier
Power SteeringPower
Windows Front
Anti Lock Braking System
Air Conditioner
Driver Airbag,Passenger Airbag
Automatic Climate Control
Fog Lights - 
FrontAlloy Wheels


आप का क्या मानना है इस कार के बारे में अपनी राय कमेंट बाक्स में दीजि्ये।





India celebrates 21 years of Kargil Vijay. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पाकिस्तान पर साधा निशाना।

New Delhi: 21 साल पहले आज के ही दिन तत्कालीन भारत के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भारतीय सेना के पाकिस्तान सेना को कारगिल से खदेड़ने के दिन को विजय दिवस नाम दिया था। भारतीय सैनिकों ने अदम्य साहस का परिचय देकर दुनिया की सबसे मुश्किल परिस्थिति में पाकिस्तान द्वारा कब्जाई गई भारतीय ज़मीन को वापस पाया था।
India celebrates 21 years of Kargil Vijay.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को देश को मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से सम्बोधित किया। सरकारी रेडियो पर प्रसारित होने वाले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कारगिल विजय के 21 साल पूरे होने के ऐतिहासिक दिन को याद किया। इसके साथ ही उन्होने पाकिस्तान के उस वक्त की कारगुजारियों पर भी निशाना साधा।

Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पाकिस्तान ने भारत की ज़मीन हड़पने और  राजनैतिक कलह के चलते कारगिल युद्ध की रुपरेखा को तैयार किया। मोदी ने आगे कहा कि इसके युद्ध को जो परिणाम हुआ उसे पूरी दुनिया ने देखा। भारते के सैनिकों ने देश की रक्षा में बलिदान देकर हम लोगों को 26 जुलाई का ऐतिहासिक क्षण दे दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि न - बैरू अकराण सब काहू सों, जो कर हित अनहित ताहूं सों...अर्थात दुष्ट का स्वभाव ही होता है, हर किसी से बिना वजह दुश्मनी करना। ऐसे स्वभाव के लोग जो दूसरों का अहित करते हैं, उनका ही नुकसान होता है। मोदी ने कहा कि भारत की मित्रता के जवाब में पाकिस्तान द्वारा पीठ में छुरा घोंपने की कोशिश हुई।   

Saturday, July 25, 2020

Some women set an example of women empowerment in India. महिलाएं खुद पर करें विश्वास, सिंगर स्वाति घोष ने बताई संघर्ष की दास्तां।

Bengaluru: देश की महिलाएँ पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही हैं। अपने सपनों को नया आयाम दे रहीं हैं। हर क्षेत्र में महिलाओं की संघर्ष की कहानी एक मिसाल बनती जा रही है। देश के साथ-साथ परिवार का नाम रोशन करने में महिलाएं पीछे नहीं हैंं। पुरानी प्रथा की जंजीरों को तोड़ कुछ कर दिखाने, पहचान बनाने का जज्बा ही देश को महिला सशक्तिकरण की ओर ले जा रहा है।

Singer Swati Ghosh

इस बारे में वोकल म्यूजिक टीचर स्वाति घोष से जब बात हुई तो उन्होंने बताया कि महिलाओं को सिर्फ चौखट तक नहीं सीमित रहना चाहिए। आज के इस दौर में अपने पैरों पर खड़े होने की बहुत जरूरत है। हुनर को पहचान कर उसे तराशने की जरूरत है। महिलाओं को संदेश देते हुए उन्होंने अपने संघर्ष का एक जीता जागता उदाहरण पेश किया।
Swati Ghosh

पेशे से  गायिका स्वाति घोष बेंगलुरू में रहती हैं। बहुत सी विपरीत परिस्थितियाँ होने के बाद भी अपने हुनर और ख्वाबों को पूरा करने में जुटीं हैं। देश हुनरमंदों से भरा पड़ा है। स्वाति घोष का सपना है एक गायिका के रुप में पहचान बनाने की। जिसे लेकर वह लगातार मेहनत भी कर रहीं हैं। 7 साल की उम्र में स्वाति ने संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी थी।
Swati Ghosh
संगीत को अपना सबकुछ मानने वाली स्वाति से जब इस बारे में बात हुई तो उन्होंने बताया कि सबसे पहले मेरी माँ ने मेरे हुनर को पहचाना और मुझे संगीत क्लास में एडमिशन दिलाया। संगीत से लगाव धीरे धीरे मेरे अंदर बढ़ता गया। जिसे लेकर मेहनत करने लगी। स्वाति ने बताया कि पढ़ाई के साथ-साथ उनकी संगीत की शिक्षा भी चल रही थी। पढ़ाई खत्म होते ही कुछ विपरीत परिस्थितियों का भी उन्हें सामना करना पड़ा। जिसके कारण उन्हें नौकरी करनी पड़ी। इस दौरान संगीत को समय न द पाने के कारण उनके दिल में हमेशा मलाल रहता। परिवार, काम और विवाहिक जीवन ने संगीत से दूरी बनाने का काम किया। लेकिन कहते हैं हुनर कभी नहीं खत्म होता बस उसे तराशने की देर है। संगीत से लगाव ने स्वाति को जॉब छोड़ने पर मजबूर कर दिया। नौकरी छोड़ने के बाद संगीत को अपनी दुनिया बनाने वाली स्वाति आज बेंगलुरु में वोकल म्यूजिक टीचर हैं। साथ ही कई प्लेटफार्म पर पर्फोर्मेंस भी किया है। अब वह SG Music Academy में बच्चों को संगीत की शिक्षा देती हैं। स्वाति का कहना है कि सपनों में अभी रंग भरना शुरू किया है। अपनी इस सफलता के पीछे उन्होंने अपनी माता और गुरु गीताश्री भट्टाचार्य को बताया।  मेरा ख्वाब है कि एक प्लेबैक सिंगर के रूप में खुद को सामने लाऊँ। जिसके लिये संघर्ष जारी है।
women empowerment in India

Tuesday, June 30, 2020

Huge loss for Tiktok | टिक टॉक की टॉंग तोड़ता एक अहम फैसला।

New Delhi: भारत सरकार के ने एक अहम फैसला लेकर चीन की 59 मोबाइल एप्स को बैन कर दिया है। आने वाले कुछ दिनों में कुछ दूसरी चीनी एप्लीकेशन्स को भी बैन किया जाने वाला है। भारत सरकार के इस फैसले ने टिक टॉक की टांगे तोड़ दी हैं। दुनिया भर में लगभग 100 करोड़ यूज़र हैं। अकेले भारत में इस एप्लीकेशन के 15 करोड़ यूज़र हैं। 
huge loss for tiktok

सरकार का यह फैसला इसलिये भी महत्वपूर्ण है क्योंकि सरकार ने टिक टॉक सहित 59 चीनी एप्स को सुरक्षा मानकों पर खरा नहीं पाया। लोगों के लोकोशन, फोटो, जैसी कई महत्वपूर्ण जानकारी चीनी खुफिया ऐजेसी के उपयोग में खास ना हो जाये इसलिये यह फैसला लिया गया।

लोगों के लोकोशन, फोटो, जैसी कई महत्वपूर्ण जानकारी चीनी खुफिया ऐजेसी के उपयोग में खास ना हो जाये इसलिये यह फैसला लिया गया।

भारत में टिक टॉक की वजह से कई लोगों को नाम और शोहरत मिली जिसके चलते यह एप कई भारतीय लोगों के दिलों में राज करने लगी। लोग इस एप पर कई तरह के वीडियो अपलोड करने लगे।
भारत और चीन के सैनिकों में ग्वलान घाटी में हुई हिंसक झड़प ने भारत के नागरिकों को चीन के सामान को बॉयकॉट करने के लिये प्रेरित कर दिया। सोशल मीडिया प्लोटफार्म पर चीन के सामान का बॉयकॉट ट्रैंड करने लगा और फिर सरकार के इस कदम ने ताबूत में में कील ठोकने का काम कर दिया।

कल तक टिक टॉक दुनिया भर में नम्बर एक पायेदान पर था और अब इसकी रैंक 202 हो गई है

कल तक टिक टॉक दुनिया भर में नम्बर एक पायेदान पर था और अब इसकी रैंक 202 हो गई है। उधर चीन की सरकार का कहना है कि कोई भी चीन की कंम्पनी दुनिया भर में अपने व्यापार को वहां की सरकार के बनाये गये कानून के हिसाब से काम करती है। वहीं टिक टॉक की तरफ से कहा गया है कि हम अपने कस्टोमर की किसी भी तरह की जानकारी किसी से भी शेयर नहीं करते हैं।

भारत में बड़े टिक टॉक यूज़र 5 से 10 लाख रुपये महीन कमाया करते थे
भारत में बड़े टिक टॉक यूज़र 5 से 10 लाख रुपये महीन कमाया करते थे। अब भारत में टिक टॉक सहित 59 एप्स डाउनलोड नहीं हो सकती। पहले से इन्स्टॉल टिक टॉक एप अब नहीं करेगी और ना ही इसको अपडेट किया जा सकेगा। और कुछ महीने के बाद यह भी काम करना बंद कर देगी।

Sunday, May 31, 2020

Covid-19: Human error or revenge of nature

Covid-19: Human error or revenge of nature

biowapon

It is said that man is the most intelligent creature, but in today's scenario, his intelligence is failing in front of the corona outbreak. There is no effective way to deal with this virus. From the most powerful country in the world to the weakest country, everyone has raised their hands in front of it. Various rumours are raising fears among people. This virus is the result of human error or nature's anger. It is too early to say anything on this because much has been said about this virus and later those things have been edited.

The outbreak that began in Wuhan, China, has now spread throughout the world

The outbreak that began in Wuhan, China, has now spread throughout the world. China, which once topped the list of virus-infected, is now ranked 17th. In the coming time, this position can also go up to 50. The number of infected in the US has been 1,816,897. and The US is top in the virus-infected list.

Most countries are blaming China for this pandemic

Most countries are blaming China for this pandemic. But China says these are baseless allegations. Our people have also been infected with this virus. It is being said that coronavirus is a biological weapon developed at the Virology Lab of Wuhan. This virus came out due to human error in the lab. While Chinese officials say the virus has come out of Wuhan's wet market. Officials say that coronavirus entered an animal from bats and then it entered humans.