Select Language

Sunday, September 6, 2020

The first level of FAU-G will be based on the Galvan incident | पबजी के बैन होने के बाद भारतीय गेमिंग कंपनी अक्टूबर तक बाजार में लायेगी फौजी गेम |

 New Delhi: भारत-चीन सीम विवाद में आये दिन कुछ न कुछ घटनायें घट रही हैं। कुल मिलाकर यदि यह कहा जाये कि आने वाले समय में युद्ध हो सकता है, तो यह कहना गलत नहीं होगा क्योंकि सीमा पर तनाव बहुत है।

Galwan Velly

13-14 जून की रात को गलवान घाटी में भारतीय सेना और चीनी सेना की टुकड़ियों में हिंसक छड़प हो गई थी जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गये थे और 78 जवान घायल हो गये थे। वहीं दूसरी तरफ चीन की सेना में भी कई सैनिकों के हताहत होने की खबर आयी थी लेकिन चीन ने अपने सैनिकों की संख्या नहीं बताई। और अब 30-31 की रात भी ऐसी ही घटना पैन्गोंग के इलाके में हुई जिसमें भारतीय सैनिकों ने 30 से अधिक चोटियों पर तिरंगा लहरा दिया।

पहले की घटना ने भारत सरकार को 150 से अधिक चाइनीज एप को बैन करने का आदेश जारी कर दिया और इस दूसरी घटना ने 118 और चाइनीज एप को बैन करवा दिया। इन 118 एप में भारतीय युवाओं का पसंदीदा मोबाइल गेम PUBG (Player Unknown's Battlegrounds) भी शामिल है। 

FAU-G (Fearless and United Guards)

इस गेम को टक्कर देने के लिये बंग्लोर की कंपनी एन-कोर गेम्स (nCore Games) ने FAU-G गेम को डेवलप किया है जो कि अगले महीने अक्टूबर में लॉन्च हो जायेगा। कंपनी का कहना है कि इस प्रोजेक्ट पर पिछले कुछ महीनों से काम चल रहा था जो लगभग पूरा हो गया है।

फौजी का पहला लेवल गलवान की घटना पर आधारित होगा

ख़बर है कि FAU-G (Fearless and United Guards) गेम का पहला लेवल गलवान की घटना पर आधारित होगा। 13-14 जून की रात चीनी सैनिकों ने कील लगी हुई रॉड और लोहे , बल्ले से भारतीय सेना की पैट्रोलिंग टीम पर हमला बोल दिया था। इस घटना से वहां मौजूद बिहार रेजीमेंट ने अपनी टीम के साथ हुई घटना का बदला चीनी सैनिकों की गर्दनें तोड़ कर लिया था।
इसी घटना पर इस गेम के पहले लेवल को विकसित किया गया है। 

ncore Games


गेम विकसित करने वाली कंपनी ncore Games का कहना है कि लॉन्च हो ने कुछ दिन के भीतर ही इस गेम के पसंद करने वाले लोगों की संख्या 20 करोड़ तक पहुंच जायेगी। कुछ आलोचकों का कहना है कि भारतीय गेम डेवलपर अभी शानादार ग्राफिक्स पर काम नहीं कर रहे हैं जिससे विदेशी गेम्स डेवलपर के गेम भारतीयों को पसंद आ रहे हैं। कंपनी का कहना है कि इस गेम को देखकर आलोचकों के मुंह बंद हो जायेगें। साथ ही कंपनी ने कहा कि इस गेम से होने वाली कमाई का 20% शहीदों के परिवार को दिया जायेगा।

इस भारतीय कंपनी के गेम को फौजी नाम अभिनेता अक्षय कुमार ने दिया था यह कहना है कहना है कंपनी के सह संस्थापक विशाल गोडल का।


EmoticonEmoticon